• Mon. Jun 20th, 2022

azithromycin in hindi – एज़िथ्रोमाइसिन का उपयोग, डोज़ तथा साइड इफेक्ट्स – azithromycin details in hindi

अज़ीथ्रोमाइसिन क्या है या आप चाहते हैं कि हम आपको एज़िथ्रोमाइसिन का मतलब बताएँ तो इस आर्टिकल को आप आखिर तक पढ़िए। यहां हम आपको azithromycin hindi mein बता रहे हैं। इसके अलावा azithromycin details in hindi में देने के अलावा azithromycin oral hindi में समझेंगे।

azithromycin hindi jankari – azithromycin hindi details

azithromycin एक एंटीबायोटिक है। एज़िथ्रोमाइसिन का उपयोग कई तरह के Bacterial infection का इलाज करने के लिए किया जाता है। azithromycin एक मैक्रोलाइड टाइप एंटीबायोटिक है। इसके काम करने का तरीका यह है कि यह बैक्टीरिया के ग्रोथ यानी वृद्धि दर को काफी कम कर देता है। तथा धीरे-धीरे बैक्टीरिया को समाप्त करता है। जिससे व्यक्ति को बैक्टीरियल इंफेक्शन से आराम मिलता है।

एक बात ध्यान दें कि azithromycin antibiotic का उपयोग अगर आप वायरल इनफेक्शन या कॉमन कोल्ड तथा फीवर इत्यादि में करते हैं तो इससे आपको आराम नहीं मिलेगा। इसके अलावा बिना कोई जांच पड़ताल के ही अगर आप यूं ही अज़ीथ्रोमाइसिन का उपयोग करते हैं या इसका मिस यूज करते हैं तो आपके शरीर में इस दवा का असर समय के साथ कम होता चला जाएगा। ऐसे में जब कभी आपको बैटरीज इंफेक्शन होने पर एज़िथ्रोमाइसिन टैबलेट दी जाएगी तो संभवत असर कम हो जाएगा या इसका असर नहीं हो पाएगा। इसलिए केवल डॉक्टर के कहने पर ही दवाई का सेवन करें।

एज़िथ्रोमाइसिन का साइड इफेक्ट्स – azithromycin Side effects in Hindi

azithromycin आमतौर से सुरक्षित दवाई मानी जाती है। लेकिन इसके भी अन्य दवाइयों की तरह कुछ साइड इफेक्ट है। इसके कॉमन साइड इफेक्ट्स में पेट खराब होना शामिल है। पेट खराब के तहत आपको डायरिया हो सकता है या लूज स्टूल हो सकता है। इसके अलावा आपको चक्कर आने लग सकता है। उल्टी हो सकती है। इसके अलावा पेट दर्द भी हो सकता है। अगर आप azithromycin का उपयोग कर रहे हैं तथा इनमें से किसी तरह के लक्षण दिखाई देते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से को इस बारे में सूचित करें।

इन लक्षणों के अलावा भी एज़िथ्रोमाइसिन के कुछ लक्षण है जो कि आमतौर से तो दिखाई नहीं देते हैं। लेकिन अगर कभी आप में दिखाई देते हैं तो तुरंत डॉक्टर से दिखाए।

कभी-कभी दिखने वाले साइड इफेक्ट्स निम्नलिखित हैं –

सुनने की क्षमता का कम हो जाना
बहरापन
आंखों में कुछ समस्या का आना जैसे आईलीड्स का गिरना धुंधला दिखना इत्यादि

इसके अलावा अगर इस दवाई का उपयोग करने के बाद बोलने में दिक्कत या कुछ खाने के समय निगलने में दिक्कत होती है तो भी डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा कभी-कभी कुछ मरीजों में मसल वीकनेस तथा आंखों तथा त्वचा का रंग हल्का पीला पढ़ना भी देखा गया है। ऐसे में अगर यह लक्षण दिखते हैं तो डॉक्टर से संपर्क करें।

कुछ मरीजों में यह भी देखा गया है कि लंबे समय एज़िथ्रोमाइसिन का उपयोग करने के बाद अचानक हृदय गति तेज़ होने की समस्या होने लगती है। ऐसे में अगर आप भी लंबे समय से इस दवाई का उपयोग कर रहे हैं तथा हार्ट रेट में कुछ परिवर्तन नजर आता है तो डॉक्टर से संपर्क करें।

ऊपर जो एज़िथ्रोमाइसिन के साइड इफेक्ट्स बताए गए हैं, वह कंप्लीट साइड इफेक्ट्स नहीं है। इनके अलावा भी आपको कुछ अलग प्रकार के साइड इफेक्ट्स दिखने मिल सकते हैं। इसलिए इस दवाई का सेवन करने से अगर आपको कुछ भी असामान्य लगता है तो डॉक्टर से उसे मिलें।

एज़िथ्रोमाइसिन का डोज़ – azithromycin dose hindi

अगर कभी आपने गलती से एक बार में बताए गए डोज़ से अधिक मात्रा में दवाई का सेवन कर लिया है तथा कुछ समस्या हो रही है तो डॉक्टर से तुरंत मिलना चाहिए। समस्याओं में आपको सांस लेने में दिक्कत हो सकती है ल। इसलिए कभी भी बताए गए डोज़ से अधिक मात्रा में दवाई का सेवन ना करें। इसके अलावा अपनी मर्जी से इस दवाई का उपयोग किसी और को ना करने दे।

मान लीजिए किसी दिन अगर आप इस दवाई को समय पर खाना भूल गए हैं तो जैसे ही याद आए खा लीजिए। अगर मान लेते हैं कि अब अगली बार जब दवाई खानी है तब याद आएगी की आपने पहले वाला डोज़ को मिस कर दिया है तो गलती से दोनों डोज़ एक साथ ना ले क्योंकि ऐसा करने से ओवरडोज हो सकता है तथा आपके लिए मुश्किल पड़ सकती है।

नोट – यहां बताई गई सारी बातें हैं केवल जानकारी के उद्देश्य से बताई गई हैं। इसमें बताई गई जानकारी के आधार पर इलाज संबंधित कोई भी फैसला न करें। इस दवाई का सेवन केवल डॉक्टर की सलाह पर ही करें।

लगातार अपडेट्स पाते रहने के लिए आप हमसे फेसबुक पर भी जुड़ सकते हैं –

https://www.facebook.com/AidPhysioPage/

धन्यवाद

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *