• Thu. Dec 2nd, 2021

मेडिकल फील्ड एक ऐसी फील्ड है जिसकी उपयोगिता कभी समाप्त नहीं हो सकती जब तक मानव जीवन है। इसलिए यदि हम इस क्षेत्र में करियर बनाएं तो एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। आज के इस आर्टिकल में हम ऐसे ही एक कोर्स के बारे में बात करने वाले है जिसका नाम Master of Physiotherapy है। इस आर्टिकल में हम आपको mpt course details in hindi में बताएंगे। इसके अलावा एमपीटी फुल फॉर्म (MPT Fullform in Hindi) और mpt meaning in Hindi भी बताएंगे। मास्टर इन फिजियोथेरेपी या मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी के बारे में जानने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

यदि आप भी जानना चाहते हैं कि Master of Physiotherapy Course in Hindi kya hai. या मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी कोर्स क्या है. एमपीटी कोर्स में एडमिशन कैसे लें (MPT Addmission process in Hindi) या MPT कोर्स में एडमिशन स्टेप बाय स्टेप. एमपीटी कोर्स की फीस, MPT Course Duration और एमपीटी कोर्स करने के लिए योग्यता ,तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें । इसमें Master of Physiotherapy in Hindi के बारे में पूरी जानकारी दी गई है।

एमपीटी फुल फॉर्म क्या होता है – MPT fullforn in Hindi

एमपीटी का फुल्फॉर्म या MPT fullforn in Hindi की बात करें या MPT Meaning in Hindi की बात करें तो बता दें कि एमपीटी का फुल फॉर्म (MPT ka Fullform) Master of Physiotherapy होता है। एमपीटी कोर्स एक मान्यता प्राप्त मेडिकल कोर्स होता है। यह कोर्स देश के सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों में कराया जाता है।

एमपीटी कोर्स के अंदर आपको व्यवहारिक और मानसिक रूप से रोगी को ट्रीट करने के लिए प्रैक्टिकल नॉलेज के साथ तैयार किया जाता है। कुछ कॉलेजों या यूनिवर्सिटी में MPT कोर्स MPTH की तरह भी कराया जाता है।

mpt course duration in india की बात करें तो यह कोर्स 2 साल का होता है और इसके साथ आप को 6 महीने के इंटर्नशिप करनी होती है। MPT कोर्स करने के बाद आपको पोस्ट ग्रेजुएशन में एकेडमिक डिग्री दी जाती है। Master of Physiotherapy कोर्स करने के बाद आप चिकित्सा के क्षेत्र में अपना करियर ब्राइट कर सकते हैं।

एमपीटी में एडमिशन कैसे लें – MPT addmission process in Hindi

MPt Course Details in Hindi

Master of physiotherapy admission – मुख्यतः Master of Physiotherapy कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करना होता है जिसके बाद आप एमपीटी कोर्स में एडमिशन ले पाते हैं।

लेकिन कुछ कॉलेज यूनिवर्सिटी ऐसे भी होते हैं जो बिना किसी एंट्रेंस के अपने कॉलेज या यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेते हैं और कुछ कॉलेज ऐसे भी होते हैं जो अपने कॉलेज लेवल पर एंट्रेंस एग्जाम लेकर मेरिट के आधार पर या बैचलर डिग्री यानी BPT में प्राप्त परसेंटेज के आधार पर एडमिशन लेते हैं।

लेकिन अगर आप एक अच्छे कॉलेज या गवर्नमेंट कॉलेज से Master of Physiotherapy कोर्स करना चाहते हैं इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम NEET PG क्वालीफाई करना होता है। जिसके बाद आप एक अच्छे मान्यता प्राप्त कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। उम्मीद है कि आपको समझ आ गया होगा कि MPT me admission kaise len या एमपीटी में एडमिशन कैसे लें

मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी कोर्स करने की योग्यता – Mater in Physiotherapy Eligibility

Master in physiotherapy in india – यदि आप Master of Physiotherapy कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास कुछ सामान्य सी योग्यताएं होना आवश्यक है। योग्यताओं के बारे में नीचे बताया गया है यदि आप में इन सभी योग्यताएं हैं तब आप आसानी से एमपीटी कोर्स कर सकते हैं-

अभ्यार्थी ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से बैचलर इन फिजियोथैरेपी यानी BPT में मिनिमम 50% नंबरों के साथ डिग्री हासिल की हो।

अभ्यार्थी ने डिग्री कोर्स के साथ-साथ लगभग 6 महीने की या उससे अधिक समय की इंटर्नशिप जरूर की हो। यदि अभ्यर्थी 6 महीने की इंटर्नशिप नहीं करता है तब वह Master of Physiotherapy कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एलिजिबल नहीं होता है। इसलिए आप सुनिश्चित करें कि आपने 6 महीने की इंटर्नशिप पूरी कर ली हो।

यदि अभ्यार्थी बैचलर ऑफ फिजियोथेरेपी के अंतिम वर्ष में है तब भी वह Master of Physiotherapy कोर्स के आवेदन के लिए एलिजिबल होता है।

एमपीटी कोर्स में एडमिशन कैसे लें स्टेप बाय स्टेप – Master of Physiotherapy admission process step by step

यदि आप एमपीटी यानी Master of Physiotherapy (मास्टर इन फिजियोथेरेपी) में एडमिशन लेना चाहते हैं और इस कोर्स को करना चाहते हैं इसके लिए नीचे कुछ स्टेप्स बताए गए हैं आप उनको फॉलो करके मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी कोर्स कर सकते हैं-

एमपीटी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले आपको NEET PG एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करना होगा। नीट सबसे ज्यादा प्रचलित एंट्रेंस टेस्ट है जिसकी मदद से आप अच्छे कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। लेकिन इसके अलावा कुछ अन्य भी एंट्रेंस एग्जाम है जिन्हें देकर आप इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं जैसे कि IPU CET, MET, DSAT आदि।

एंट्रेंस एग्जाम के लिए अप्लाई करने के बाद उसकी डेडीकेटेड प्रिपरेशन करें और एंट्रेंस एग्जाम को क्वालीफाई करें। ध्यान रहे कि आपके एंट्रेंस एग्जाम में जितने अच्छे नंबर होंगे उतना ही अच्छा कॉलेज आप अपनी मर्जी से ले पाएंगे। इसलिए कोशिश करें कि अच्छा से अच्छा कॉलेज अच्छा से अच्छा परसेंटेज ला पाए।

एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करने के बाद अगला चरण आता है काउंसलिंग का ,आप काउंसलिंग में पार्टिसिपेट करें और अपने मनपसंद कॉलेज को चुने वहां से अपने कॉलेज की सीट बुक करें।

कॉलेज की सीट ऑनलाइन बुक करने के बाद अपने कॉलेज कैंपस में जाएं जहां भी आप एडमिशन लेना चाहते हैं। जिसका नाम अपने काउंसलिंग में डाला है और वह संस्थान मिल गया हो तब आप उस कॉलेज कैंपस में जाएं। वेरिफिकेशन करवाएं और अपना एडमिशन सुनिश्चित करें।

यदि किसी कारणवश आपके एंट्रेंस एग्जाम में नंबर कम आते हैं या फिर आपको काउंसलिंग में कॉलेज नहीं मिल पाता है तो उसके लिए घबराने की आवश्यकता नहीं है। कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटी डायरेक्ट एडमिशन भी लेते हैं। आप उन कॉलेज में कांटेक्ट करके वहां से डायरेक्ट एडमिशन करवा सकते हैं।

इस प्रकार आप ऊपर बताए गए कुछ स्टेप्स को फॉलो करके आसानी से एमपीटी कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

एमपीटी कोर्स की अवधि – MPT Course Duration in India

मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी कोर्स की अवधि 2 वर्ष की होती है। मतलब इन 2 वर्षों में आपके 4 सेमेस्टर पढ़ाए जाते हैं। जिनमें आपको सफलता पूर्वक प्रदर्शन करना होता है। तथा इसके साथ-साथ आपको 6 महीने की इंटर्नशिप भी करनी होती है।

एमपीटी कोर्स के स्पेशलाइजेशन – Master in Physiotherapy Course List

जिस प्रकार हम इंजीनियरिंग में किसी भी ब्रांच को सिलेक्ट करके एक पार्टीकुलर फील्ड में इंजीनियरिंग कर सकते हैं। ठीक उसी प्रकार MPT में भी हम किसी एक ब्रांच या स्पेशलाइजेशन को सेलेक्ट करके एमपीटी कोर्स कर सकते हैं। जैसे –

ऑर्थोपेडिक

न्यूरोलॉजी

पीडियाट्रिक न्यूरोलॉजी

हैंड रिहैबिलिटेशन

ऑब्सटेट्रिक्स एंड गायनेकोलॉजी

स्पोर्ट्स

कम्युनिटी फिजियोथैरेपी

एमपीटी कोर्स की फीस – MPT Fees Details in India

Master of physiotherapy fees – मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी कोर्स की फीस अलग-अलग कॉलेजों में अलग-अलग होती है। लेकिन अगर हम एक एवरेज फीस की बात करें तो यहां 70000 सालाना से लेकर 300000 प्रति वर्ष तक हो सकती है। यह वेरिएशन कॉलेज की क्वालिटी और उसकी बॉडी पर निर्भर करता है। इसलिए आप प्रयास करें कि इंट्रेंस एग्जाम में अच्छा सा अच्छा प्रदर्शन कर पाएं। जिससे आपको गवर्नमेंट बॉडी मिल जाए और कम खर्चे में इस कोर्स को कंप्लीट कर ले।

उमीद है, आपको मास्टर इन फिजियोथेरेपी या MPT Course details in Hindi अच्छे से समझ आ गया होगा। इस Master in Physiotherapy ya फिजियोथेरेपी से संबंधित कुछ और जानना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

ये भी जानें –

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *