• Wed. Oct 5th, 2022

pantoprazole use in hindi – पेंटोप्राजोल टैबलेट की जानकारी – pantoprazole details in hindi

Pantoprazole आमतौर से उपयोग किए जाने वाली दवाई है। pantoprazole ka use मुख्य रूप से पेट तथा एसोफेगस से जुड़ी बीमारियों के इलाज में किया जाता है। उदाहरण के तौर पर एसिड रिफ्लक्स डिजीज या गर्ड बीमारी में पैंटोप्राजोल का उपयोग बड़े स्तर पर किया जाता है।

बाजार में pantoprazole अलग अलग ब्रांड के नाम से उपलब्ध है। पैंटोप्राजोले टेबलेट के कुछ उदाहरण आपको इस आर्टिकल के आखिर में हम बताएंगे।

pantoprazole hindi jankari – pantoprazole medicine in hindi

pantoprazole in Hindi – pantoprazole एक Proton pump inhibitor है। इस कारण pantoprazole ppi नाम से भी जाना जाता है। Pantoprazole पेट में बनने वाले अत्यधिक एसिड को कम करता है। साथ ही एसिड रिफ्लक्स डिजीज के लक्षण से भी आराम पहुंचाता है।

पेंटोप्राजोल का फायदा यह है कि पेट में अधिक एसिड बनने की वजह से जब अंदरूनी हिस्से को नुकसान पहुंचता है तो यह दवाई उससे को ठीक करने में मदद करता है।

यह एक ऐसी दवाई है जो कि सीने में जलन होने पर इसके इलाज के लिए दिया जाता है। इसके अलावा पेंटोप्राजोल का उपयोग निगलने में दिक्कत होने की बीमारी होने पर भी दिया जाता है। इसके अलावा अगर किसी को लगातार लंबे समय से कफ बनने की बीमारी हो तो भी यह दिया जाता है।

पैंटोप्राजोल टेबलेट कैसे उपयोग करें – How to Use Pantoprazole tablet in Hindi

आमतौर से Pantoprazole Inejection, Pantoprazole पॉवडर तथा Pantoprazole Tablet के रूप में आते हैं।

यहां हम पैंटोप्राजोल टैबलेट के बारे में बता रहे हैं।

पैंटोप्राजोल टैबलेट को खाने से पहले या खाली पेट लिया जाता है। यह दवाई किस तरीके से लिया जाएगा, यह बीमारी की गंभीरता तथा मरीज की स्थिति को देखते हुए डॉक्टर सुझाव देते हैं।

अतः पैंटोप्राजोल का सेवन किस तरह करना है, वह आप अपने डॉक्टर से बात करके समझ सकते हैं। तथा इसका डोज़ भी डॉक्टर ही बीमारी की स्थिति को देखते हुए निर्धारित करते हैं। अपनी मर्जी से pantoprazole use करना आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है।

पैंटोप्राजोले टेबलेट का उपयोग करते समय एक बात जरूर ध्यान में रखें कि अगर आप इस दवाई का उपयोग खाने से पहले कर रहे हैं, तो खाना खाने से लगभग आधे घंटे पहले इस दवाई को ले लें। खाने के दौरान सीधे टेबलेट को निगल जाएं। ध्यान दें कि इस pantoprazole को चबाकर ना खाएं ऐसा करने पर दवाई का असर कम या बिलकुल ना के बराबर हो सकता है।

पैंटोप्राजोल के नुकसान – pantoprazole side effects in Hindi

pantoprazole side effects in Hindi
की बात करें तो दूसरे दवाओं की तरह पैंटोप्राजोल के साइड इफेक्ट भी हैं। आमतौर से pantoprazole ka side effects बहुत ज्यादा गंभीर नहीं है। आमतौर से देखे जाने वाले pantoprazole ke side effects में सर दर्द और डायरिया कॉमन है।

इन लक्षणों के अलावा कुछ मरीजों में निम्नलिखित साइड इफेक्ट भी देखने को मिल सकते हैं –

लो मैग्निशियम ब्लड लेवल
मसल स्पाज्म
कंपन
सीने में दर्द
कंधे में दर्द
पसीना आना
हृदय गति यानी हार्ट बीट का असामान्य हो जाना
धुंधला दिखना
मुंह सुखना
अधिक प्यास लगना
सीने में जलन इत्यादि इत्यादि।

कुछ मरीज में pantoprazole के लंबे उपयोग से मरीज की हड्डियां खासकर लंबी हड्डियां जैसे कि जांघ की हड्डी, हाथ की हड्डी इत्यादि कुछ हद तक कमजोर हो जाती है। ऐसे में फ्रैक्चर का खतरा भी होता है। हालांकि इससे बचने के लिए डॉक्टर अक्सर कैल्शियम लिख देते हैं। जिससे मरीज को इस बारे में चिंता करने की ज़्यादा जरूरत नहीं होती है।

pantoprazole ke side effects के अलावा अगर इस दवाई का सेवन करते हुए आप कुछ भी असामान्य लक्षण पाते हैं या आपको कुछ बेचैनी महसूस होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

पैंटोप्राजोल के भारतीय ब्रांड – pantoprazole indian brands in Hindi

इंडियन मार्केट में पैंटोप्राजोल कई अलग-अलग ब्रांड्स के नाम से बेचे जाते हैं। इनके कुछ ब्रांड्स निम्नलिखित है

Pan 40
Nupenta 40 Tab
Pantocip 40
Pantop 40 Tab
Elesec 40 Mg
Zapan 40 mg
Pantocid 40
Panplus 40 mg

इन दवाओं के ब्रांड्स के अलावा भारतीय बाजार में पैंटोप्राजोल के दर्जनों ब्रांड्स है।

पैंटोप्राजोल टेबलेट का दाम – Pantoprazole Price in Hindi

जैसा कि ऊपर बताया गया है कि पैंटोप्राजोल भारतीय बाजार में दर्जनों अलग अलग ब्रांड्स के नाम से बेचे जाते हैं। ऐसे में ब्रांड्स के अनुसार इन के दाम भी अलग-अलग हैं। अगर भारतीय बाजार में उपलब्ध सबसे सस्ते pantoprazole indian brands की बात करें तो Nupenta 40 Tab सबसे सस्ती है इसकी कीमत लगभग ₹23 है। इसी तरह दाम बढ़ते हुए 50, 70, 80 से लेकर ₹170 तक है।

pantoprazole से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

जब भी आप डॉक्टर से दिखाने जाएं तो अपनी बीमारी के बारे में पूरी जानकारी डॉक्टर को दें। क्योंकि पैंटोप्राजोल एक ऐसी दवा है जो कि कुछ बीमारियों को ठीक भी करता है तो कभी-कभी यह कुछ बीमारियों का कारण भी बन सकता है। जैसे कि लंबे उपयोग से किडनी की समस्या होने का खतरा रहता है। इसके अलावा शरीर में विटामिन B12 की भी कमी हो सकती है। इसलिए हमेशा डॉक्टर को पूरी जानकारी देने के बाद ही पैंटोप्राजोल का उपयोग करें।

पैंटोप्राजोल का डोज़ – pantoprazole dosage hindi

किस मरीज को कितनी मात्रा में तथा कितने दिनों के लिए पेंटोप्राजोल टैबलेट दिया जाना है इस बात का निर्धारण डॉक्टर बीमारी की तीव्रता तथा मरीज की स्थिति को देखते हुए करते हैं। आमतौर से यह दवाई अक्सर कम से कम 5 साल से ऊपर वाले मरीज को ही दिया जाता है।

चूंकि पेंटोप्राजोल टैबलेट का डोज़ तथा ड्यूरेशन पर फैसला डॉक्टर ही करते हैं फिर भी आमतौर से एक वयस्क मरीज को 40 एमजी की टेबलेट प्रत्येक दिन एक टैबलेट खाने के लिए दिया जाता है। तथा इसका ड्यूरेशन 8 हफ्ते तक हो सकता है।

चूंकि, कई बार मरीज एक दवा के साथ-साथ कई अन्य दवा भी खा रहे होते हैं। ऐसे में इस दवा का डोज जरूरत के हिसाब से बदल भी सकता है। इसलिए बिना डॉक्टर के सुझाव के इस दवाई का सेवन ना करें।

नोट – इस लेख में जो भी बातें बताई गई है वह केवल जानकारी के उद्देश्य से बताई गई है। इस दवाई का उपयोग कभी भी अपनी मर्जी से ना करें। दवाई का सेवन करने से पहले डॉक्टर से विचार-विमर्श करलें तथा डॉक्टर के बताए अनुसार ही इस दवाई का सेवन करें।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *