• Sat. Nov 26th, 2022

Physiotherapy Parafin Wax in Hindi – फिजियोथेरेपी में पैराफिन वैक्स का उपयोग – भौतिक चिकित्सा पैराफिन मोम

फिजियोथैरेपी विभाग में पैराफिन वैक्स का उपयोग कई बार किया जाता है। इसका उपयोग ज्यादातर दर्द, स्पाज्म, Stiffness इत्यादि कम करने के उद्देश्य से किया जाता है।


आगे बढ़ने से पहले paraffin wax hindi meaning या
paraffin wax hindi name की बात करें, तो इसे मोम कहा जाता है। Paraffin wax एक तरह का मोम ही है।

फिजियोथेरेपी विभाग में पैराफिन वैक्स का उपयोग करने के लिए पहले पैराफिन वैक्स को 55 डिग्री सेंटीग्रेड पर गर्म करते हुए पिघलाकर पतला किया जाता है। फिर उसका उपयोग किया जाता है।

चूंकि, पैराफिन वैक्स गर्म होता है, तथा इसे ही मरीज के शरीर पर वैसे जगह लगाया जाता है, जहां पर समस्या होती है। ऐसे में कभी-कभी टेंपरेचर हाई होने की वजह से जलन की समस्या हो सकती है। इसके इसलिए पैराफिन वैक्स को लिक्विड फॉर्म में बनाए रखने के लिए तथा जब मरीज को जलने से बचाने के लिए पैराफिन वैक्स में मिनरल ऑयल डाल दिया जाता है। इस तरह पैराफिन वैक्स ज्यादा समय तक लिक्विड फॉर्म में रहता है। तथा जलने का खतरा भी नहीं रहता है। पैराफिन वैक्स आमतौर से लगभग 40 से 44 डिग्री सेंटीग्रेड पर जम जाता है।

पैराफिन वैक्स का उपयोग – paraffin wax uses in hindi

Paraffin wax in hindi

फिजियोथेरेपी में पैराफिन वैक्स यूज (paraffin wax uses in hindi) करने का मुख्य कारण यह है कि पैराफिन वैक्स का थर्मल कंडक्टिविटी काफी लो होता है। इस कारण पैराफिन वैक्स अपनी गर्माहट यानी हीट को काफी धीरे-धीरे रिलीज करता है। ऐसे में जिस जगह पर इसका उपयोग किया जाता है, वहां ज्यादा समय तक ही हिट रहता है। जिससे कि मरीज को फायदा मिलता है।

जहां पर भी पैराफिन वैक्स का उपयोग किया जाता है, वहां पर पूरा एक गर्म क्षेत्र बन जाता है तथा वहां पर से हिट धीरे-धीरे रिलीज होता है।

चौकी पैराफिन वैक्स धीरे-धीरे अपने एक गर्मी या गर्माहट को छोड़ता है, इस कारण मरीज को अचानक से जलन भी महसूस नहीं होतीम अगर पानी और पैराफिन वैक्स दोनों को एक ही तापमान पर गर्म कर दिया जाए तो वैक्स की अपेक्षा किसी व्यक्ति को पानी ज्यादा गर्म लगता है। यही कारण है कि पानी की वजह है वैक्स का उपयोग किया जाता है

पैराफिन वैक्स का प्रभाव – Physiological effect of paraffin wax in hindi

जब पैराफिन वैक्स कहीं पर यूज किया जाता है तो कई तरह के फिजियोलॉजिकल प्रभाव देखने को मिलते हैं जो निम्नलिखित है –

सबसे पहले ही प्रोडक्शन सर्कुलेटरी इफेक्ट तथा एनाल्जेसिक इफेक्ट देखने को मिलता है। यानी कि आसपास खून का दौरा अच्छा हो जाता है। इसके अलावा दर्द से आराम मिलता है। इसके अलावा मरीज में स्ट्रैचिंग इफेक्ट भी देखने को मिलता है। यानी की जहां पर इसका उपयोग किया जाता है, वहां के आसपास के मांस पेशियों में स्ट्रैचिंग भी हो जाता है।

पैराफिन वैक्स कहाँ उपयोग करना है – Paraffin wax indication in hindi

पैराफिन वैक्स के इंडिकेशन की बात करें तो आमतौर से पैराफिन वैक्स दर्द तथा Muscle Spasm की स्थिति में दिया जाता है। इसके अलावा किसी मरीज को सूजन या इन्फ्लेमेशन है तो उसमें भी पैराफिन वैक्स दिया जाता है। Adhesion और Scar tissue होने पर भी पैराफिन वैक्स कारगर साबित होता है।

Adhesion तथा Scar Tissue की स्थिति में जब पैराफिन वैक्स लगाया जाता है तो वैक्स की गर्माहट से आसपास के टिशू सॉफ्ट होते हैं। इससे बाकी एक्सरसाइज देने में काफी मदद मिलती है।

इस स्थिति में वैक्स थेरेपी नहीं देनी चाहिए – Paraffin wax contraindications in Hindi

वैसे मरीज में पैराफिन वैक्स का उपयोग नहीं करना चाहिए जिसमें सेंसेशन यानी महसूस करने की क्षमट्स नहीं है। ऐसे मरीज़ में जलने का खतरा हो सकता है। इसके अलावा अगर किसी को किसी तरीके की समस्या है, जैसे एक्जिमा वगैरह है तो पैराफिन वैक्स का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।

इसके अलावा सर्कुलेटिंग डिस्फंक्शन होने पर भी इसका उपयोग नहीं किया जाता है। इसके अलावा कैंसर, ट्यूबरक्लोसिस इत्यादि में इसका उपयोग नहीं किया जाता है। अगर किसी मरीज को ताजा टांका लगा हो या कोई जख्म हो तो उस हिस्से पर पैराफिन वैक्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसके अलावा वैसा मरीज जो लंबे समय से कीमो थेरेपी ले रहा हो तो उसमें भी Praffin wax use नहीं किया जाता है।

पैराफिन वैक्स की कीमत – Paraffin wax price in Hindi

भारत में आमतौर से 200 रुपए से वैक्स मिलना शुरू हो जाता है। वैक्स की कीमत इसके वज़न और गुणवत्ता पर भी निर्भर करता है। आमतौर से आपको 500 gm तक का वैक्स अच्छी गुणवत्ता में 200 रुपये तक में मिल जाएगा।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *