• Tue. Sep 27th, 2022

फिजियोथेरेपी में Physiotherapy Techniques के साथ – साथ कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का भी उपयोग किया जाता है। इसे Electrotherapy के नाम से जाना जाता है। यूं तो एलेक्ट्रोथेरेपी में कई अलग – अलग मशीनों का उपयोग किया जाता है। लेकिन सबसे सामान्य रूप से जो मशीन उपयोग किया जाता है, उसे टेंस (TENS Machine) कहा जाता है। इस लेख में आपको टेंस मशीन की ही पूरी जानकारी देंगे।

TENS – Physiotherapy tens machine – फिजियोथेरेपी में टेंस मशीन

TENS Full form in Hindi – Physiotherapy TENS machine का फुलफोर्म (Full Form of Tens) Transcutaneous Electrical Nerve Stimulation होता है। Tenst एक Low Frequancy मशीन है।

टेंस मशीन का फायदा physiotherapy tens machine benefits

इसका उपयोग फिजियोथेरेपी में काफी बड़े स्तर पर किया जाता है। Tens एक दर्दनिवारक (Analgesic) की तरह काम करता है। यानी कि टेंस का उपयोग दर्द कम करने के लिए किया जाता है।

TENS Machine Physiotherapy में पेन गेट थ्यूरी पर काम करता है। Tens मशीन इसी सिद्धांत पर काम करते हुए दर्द का एहसास ले जाने वाले नर्व फाइबर्स पर काम करता है। इसके फलस्वरूप व्यक्ति को दर्द से आराम मिलता है।

● Types of tens in physiotherapy (टेंस मशीन के प्रकार)

फिजियोथेरेपी में उपयोग होने वाले टेंस कई अलग प्रकार के होते हैं। इनका उपयोग विभिन्न कंडीशन के आधार ओर किया जाता है। मुख्यतः सभी Physiotherapy Tens Treatment का उद्देश्य दर्द से आराम देने ही होता है। Tens के प्रकार निम्नलिखित हैं –

हाई टेंस (High Tens)

लो टेंस (Low Tens)

ब्रस्ट टेंस (Burst Tens)

ब्रीफ टेंस (Breef Tens)

मॉड्यूलेटेड टेंस (Modulated Tens)

टेंस का क्लासिफिकेशन इसके इंटेन्स और फ्रीक्वेंसी के आधार पर किया गया है। इन सभी में इंटेंस और फ्रीक्वेंसी का माप अलग अलग होता है।

● फिजियोथेरेपी में टेंस मशीन का उपयोग – Tens machine used in physiotherapy

टेंस 2 पैड या इससे अधिक पैड वाले भी होते हैं। अधिक पैड वाले को मल्टी चैनल टेंस मशीन कहा जाता है। यह अलग – अलग आकार के और अलग – अलग क्षमता के होते हैं। आप अपनी सुविधा अनुसार कोई भी Tens Machine यूज़ सकते हैं।

● Treatment के लिए Tens Machine उपयोग करने का तरीका ( How to use tens in physiotherapy)

सबसे पहले शरीर के उस हिस्से का चुनाव करें जहां ओर आपको टेंस लगाना है।

उस जगह को देखें कि कहीं, कटा हुआ या वहां पर जख्म या कोई और समस्या तो नही है।

उसके बाद उस जगह की अच्छे से साफ करें।

उसके बाद उस जगह पर अल्ट्रासाउंड जेल लगा लें। उसके बाद वहां Tens Machine के इलेक्ट्रोड को रख दें। Tens Electrod को इलास्टिक बैंड से बांध दें। ध्यान दें कि उसे बस इसी तरह बांधें की बस इलेक्ट्रोड गिरे नही। ज़्यादा ज़ोर से नही बंधना है।

ये सारी तैयारी करने के बाद Tens Machine को चालू कर दें। ध्यान दें कि चाकू करने से पहले मशीन की इंटेंसिटी बिल्कुल ज़ीरो होनी चाहिए। अब मशीन ऑन करने के बाद धीरे – धीरे इंटेंसिटी बढ़ाएं। इंटेंसिटी तब तक बढ़ाएं जब तक कि मरीज को इंटेंसिटी महसूस न होने लगे। इसके बाद टेंस की इंटेंसिटी को उतने पर ही छोड़ दें। उसके बाद एक टाइम सेट कर दें। उतने समय तक लगातार Tens Treatment मिलने के बाद मशीन को हटा दें।

● Indication of Tens (tens machine used in physiotherapy) टेंस मशीन कब यूज़ करना है –

टेंस का उपयोग निम्नलिखित केस में किया जाता है –

विभिन्न प्रकार के एक्यूट और क्रोनिक दर्द की स्तिथिकमें टेंस का उपयोग किया जाता है। मुख्य रूप से हड्डियों के दर्द, मांसपेशियों के दर्द तथा न्यूरोलॉजिकल दर्द की स्तिथि में टेंस का उपयोग किया जाता है। एक बात ध्यान रखें कि टेंस मशीन का उपयोग कभी भी अचानक से होने वाले दर्द में नही किया जाता है। ऐसी स्तिथि में कोई फायदा नही होगा। इसके अलावा जोड़ो के दर्द, अर्थराइटिस, बैक पेन इत्यादि में भी टेंस काफी उपयोगी साबित होता है।

● निम्नलिखित स्तिथि में टेंस उपयोग नही करना है (Contraindication Of Tens)

निम्नलिखित स्तिथि में टेंस मशीन का उपयोग नही किया जाता है। करने पर समस्या हो सकती है –

Tens Machine का उपयोग कभी भी आंख, गले, गर्दन तथा सिर वाले हिस्सें पर नही किया जाता है। अगर आपने इन हिस्सों पर यूज़ कर लिया तो आपको समस्या हो सकती है।

वस्कुलर एक्सीडेंट का मरीज़ों के गर्दन पर कभी भी टेंस न लगाएं।

अगर किसी मरीज के हृदय का ऑपरेशन हुआ है, तथा उसे पेसमेकर लगा है, तो भूल कर भी टेंस का उपयोग कंधे तथा दिल के आसपास वाले हिस्से पर न करें। अगर मरीज किसी प्रकार के हृदय रोग से ग्रसित है तो भी सीने के हिस्से पर टेंस न लगाएं।

गर्भवती महिलाओं में कभी भी पेट तथा पेल्विक वाले हिस्से टेंस का उपयोग न करें।

अगर मरीज मिर्गी का रोगी है टी उसमें भी टेंस का उपयोग न करें।

● टेंस का नुकसान – Physiotherapy tens side effects

Physiotherapy Tens का उपयोग सुरक्षित ही माना जाता है। सामान्यतः इसमें कोई समस्या नही होती है। हालांकि कभी – कभी थोड़ी लापरवाही के कारण कुछ समस्या हो सकती है। जैसे कि जहाँ पर पैड लगाया गया है, अगर मरीज को वहां पर महसूस नही हो रहा है, तो वहां पर जलने का खतरा रहता है। इसके अलावा स्वस्थ व्यक्ति को भी कभी कभी उस स्थान पर थोड़ी जलन, नोचने इत्यादि की समस्या हो सकती है। सामान्यतः ध्यान से उपयोग करने पर ऐसी समस्या नही आती है।

इस लेख में हमने आपको Physiotherapy Tens Machine की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। अगर आप कुछ और जानकारी चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

धन्यवाद

Share and Enjoy !

Shares
4 thoughts on “टेंस क्या है – फिजियोथेरेपी टेंस मशीन क्या है – Physiotherapy TENS Machine in Hindi”
  1. […] उपयोग बड़े स्तर पर किया जाता है। फिजियोथेरेपी टेंस मशीन के उपयोग से मांशपेशियों में […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *