• Sun. Nov 27th, 2022

अगर आप जानना चाहते हैं कि वजन कैसे बढ़ाएं या वजन कैसे बढ़ाएं क्या खाएं यानी weight gain hindi tips जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ें। हम आपको बताएंगे कि वजन कैसे बढ़ाएं, weight gain diet hindi mein, weight gain kaise kare. हम आपको ये भी बताएंगे कि घर पर वजन कैसे बढ़ा सकते हैं। तो how to weight gain in hindi at home के बारे में जानने के लिए इस आर्टिकल को आखिर तक पढ़ें।

भारत में ऐसे लोगों की संख्या बहुत ज्यादा है जो वजन बढ़ाने के लिए दिन-रात कोशिश में लगे रहते हैं। इसके बावजूद उन्हें कामयाबी नहीं मिलती है। वज़न बढाने में कामयाबी ना मिलने की बड़ी वजह ये है कि लोग सही बातों को नहीं जान पाते हैं। इस कारण वह अपना वजन नहीं बढ़ा पाते हैं।

एक बात ध्यान में रखें कि बहुत ज्यादा खाना खाने से वजन नहीं बढ़ सकता है। बल्कि ज़रूरी है कि वजन बढ़ाने के लिए सही तरीके से और सही चीजें खाई जाए।

वजन कम होने का कारण – Cause or Weight Loss in Hindi

वजन बढ़ाने के तरीकों को जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर वजन क्यों नहीं बढ़ पाता है।

कई बार लोग कुछ ऐसी बीमारी से ग्रसित होते हैं जिसके बारे में उन्हें अंदाजा नहीं होता है। ऐसी बीमारियां अक्सर वजन काफी तेजी से कम करने लगती है। फिर आप कितना भी कुछ खा लें आपका वजन नहीं बढ़ने वाला है। चलिए कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में बताते हैं जो वज़न नहीं बढ़ने देता है।

ईटिंग डिसऑर्डर – Eating disorder in Hindi

अगर किसी व्यक्ति में ईटिंग डिसऑर्डर की समस्या है तो ऐसे लोगों में खाना बहुत जल्दी पच नहीं पाता है। खाना खाते ही उन्हें चक्कर, उल्टी इत्यादि की समस्या होने लगता है। ऐसी समस्या होने पर व्यक्ति जो भी खाना खाता है वह उसके शरीर को नहीं लग पाता है। धीरे-धीरे खाने की इच्छा भी कम होने लगती है जो कि वजन कम करता चला जाता है।

थायरॉइड प्रॉब्लम – Thyroid Problem

आमतौर से माना जाता है कि थायराइड होने पर व्यक्ति का वजन काफी तेजी से बढ़ता है। लेकिन हाइपोथाइरॉएडिज्म यानी बहुत ज्यादा थाइराइड बढ़ जाने से व्यक्ति का मेटाबॉलिज्म रेट बहुत ज्यादा बढ़ जाता है जो की काफी तेजी से वजन कम करने लगता है। ऐसी स्थिति में आप खाना खाते रहें लेकिन वजन नहीं बढ़ेगा।

डायबिटीज – Diabetes

डायबिटीज अपने साथ एक दो नहीं बल्कि कई तरीके की बीमारियों को साथ लेकर आता है। उसमें एक समस्या यह भी है कि डायबिटीज होने पर व्यक्ति का वजन भी कम होने लगता है। खासतौर पर जिन व्यक्तियों में टाइप वन डायबिटीज हुआ है, उनमें तेजी से वजन कम होता है।

कैंसर – Cancer

कई लोगों के शरीर में है कहीं ना कहीं कैंसर वाले ट्यूमर होते हैं, लेकिन काफी समय तक पता नहीं चल पाता है। ऐसे ट्यूमर बहुत अधिक मात्रा में कैलोरी को बर्न करते हैं। लगातार कैलोरी जलने की वजह से भी वजन नहीं बढ़ पाता है।

इंफेक्शन – Infection

अगर कोई व्यक्ति किसी तरीके के इंफेक्शन से ग्रसित है। जैसे कि अगर कोई एचआईवी, एड्स, ट्यूबरक्लोसिस इत्यादि का मरीज है तो ऐसे लोगों में भी वजन नहीं बढ़ पाता है। इंफेक्शन से ग्रसित व्यक्ति आम लोगों के मुकाबले बहुत ज्यादा पतले और हल्के फुल्के नजर आते हैं।

तो अगर आप वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं फिर भी वजन नहीं बढ़ रहा है तो पहले एक बार जांच लें कि आप किसी दूसरी बीमारी से तो ग्रसित नहीं है….।

एक बात और ध्यान रखें कि अगर आपका वजन नहीं बढ़ रहा है तो इसका मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि आप किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित हो सकते हैं। आप बिना कोई दूसरी बीमारी से ग्रसित हुए भी वजन न बढ़ने की समस्या के शिकार हो सकते हैं। इस लिए घबराने की बिल्कुल भी ज़रूरत नहीं है।

सब कुछ ठीक होते हुए भी वजन न बढ़ने का सबसे बड़ा कारण यह होता है कि अक्सर लोग जितनी कैलोरी भोजन के माध्यम से लेते नहीं हैं, उससे कई गुना ज्यादा वह कैलोरी की खपत करते हैं। इसलिए सबसे पहले आपको अपना डाइट प्लान इस तरीके से बनाना होगा कि आप जितनी कैलोरी एक दिन में बर्न करते हैं, उससे अधिक कैलोरी आपको लेनी होगी।

अगर आप धीरे-धीरे अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं तो अपने डाइट में उन चीजों को शामिल करें जिससे कि आपको एक दिन में कम से कम 1500 से 2000 कैलोरी मिल सके। अगर आप कुछ ज्यादा तेजी से वजन बढ़ाना चाहते हैं तो फिर आप अपने डाइट को भी बढ़ाएं और 1 दिन में कम से कम 2000 से 3000 तक कैलोरी लेने की कोशिश करें। अगर आप नियमित रूप से 2000 से 3000 तक कैलोरी लेते हैं फिर आपका देखते ही देखते बढ़ना शुरू हो जाएगा।

वजन बढ़ाने के लिए क्या खाना चाहिए – Weight Gain Food List in Hindi

चिकेन

ज्यादा से ज्यादा कैलोरी लेने के लिए चिकन खाना शुरू कर सकते हैं। चिकन में है बहुत अधिक मात्रा में कैलोरी पाई जाती है आप अपने पसंद के अनुसार चिकन का कोई सा भी आइटम बना ले और उसे खाएं आप एक टाइम चिकन खा कर 400 से 500 कैलोरी आराम से हासिल कर सकते हैं इसके अलावा इसके साथ जो भी आप खाएंगे उसे भी कैलोरी मिलेगी इस तरह आप अपने 1 दिन की सैलरी की आवश्यकता उनको आराम से पूरा कर सकते हैं ध्यान दें कि चिकन दिल्ली खाने की वजह है बीच-बीच में गैप करते हुए खाना ज्यादा बेहतर होता है यदि लगातार चिकन खाने से आप के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

प्रोटीन शेक

आमतौर से लोग वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन पाउडर का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन प्रोटीन पाउडर से ज्यादा फायदेमंद यह है कि आप अपने घर पर प्रोटीन युक्त फलों से शेक बनाकर उसका इस्तेमाल करें। घरों में तैयार किया गया प्रोटीन से काफी फायदेमंद होता है इसमें काफी ज्यादा मात्रा में कैलोरी पाई जाती है उदाहरण के तौर पर आप बनाना शेक रोजाना ले सकते हैं इसे बनाना भी आसान है और पीने में भी अच्छा लगता है आप दिल्ली सुबह उठकर बस एक गिलास बनाना सीख ले लें इससे आपको काफी ऊर्जा मिलेगी।

दही

दही को हमेशा से काफी गुणकारी माना जाता है। वजन बढ़ाने में भी दही काफी कारगर साबित होता है। इसकी वजह यह है कि दही में काफी अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। अगर आप रोजाना सुबह में सिर्फ एक छोटी कटोरी में दही का सेवन अपने नाश्ते के साथ करने लगे तो आपको लगभग 200 से 300 कैलोरी मिल जाती है। दही स्वास्थ्य को के लिए दूसरे तरीकों से भी काफी लाभदायक माना जाता है। इसलिए आप अगर वजन बढ़ाना चाहते हैं, तो दही को जरूर अपने डाइट में शामिल करें। दही के साथ साथ दूध और दूध से बनी बाकी दूसरी चीजें भी जरूर अपने डाइट में शामिल करें। इससे आपको काफी बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे।

चना

चना ऊर्जा का अच्छा स्रोत माना जाता है। चने में काफी अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। आप रोजाना सुबह में चने को रात भर भिगोकर या इसे सब्जी की तरह बना कर खा सकते हैं। अगर आप मात्र 100 ग्राम चना खाते हैं तो आपको लगभग 300 तक कैलोरी मिलती है। रोजाना चने को खाने की आदत डालने से आप निश्चित ही फर्क महसूस करने लगेंगे। ये पाचन तंत्र भी बेहतर करता है।

चावल और आलू

कई लोगों को चावल और आलू ज्यादा पसंद नहीं होता है। वह आमतौर से रोटी और अन्य सब्जियां ही खाना पसंद करते हैं। लेकिन रोटी के मुकाबले चावल में तथा आलू में काफी अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। कार्बोहाइड्रेट वजन बढ़ाने में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। आप जितनी अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट लेंगे आपका वजन उतनी ही तेजी से बढ़ता है। इसलिए दिन में कम से कम एक बार हर हाल में आलू-चावल कहना चाहिए। अगर आप सिर्फ आधे कप चावल को पका कर खाते हैं तो आपको लगभग 300 कैलोरी मिलती है। अब आप समझ सकते हैं कि चावल मोटापा बढ़ाने में कितना कारगर साबित हो सकता है। एक बात ध्यान में रखें कि ज्यादा कैलोरी पाने के चक्कर में लगातार सिर्फ आलू- चावल ही खाना शुरू ना कर दें। ऐसा करेंगे तो फायदा होने की बजाय नुकसान होना शुरू हो जाएगा।

छोले भटूरे

आपको यह थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि एक थाली में जो छोला भटूरा परोसा जाता है उसमें 400 से 500 कैलोरी ऊर्जा होती है। इसलिए आप भी खाने में एक टाइम छोले भटूरे को शामिल कर सकते हैं। छोला भटूरा नियमित रूप से खाना मुश्किल होता है। फिर भी आप हफ्ते में कम से कम एक दो बार तो छोले भटूरे को अपने डाइट में शामिल कर ही सकते हैं।

अंकुरित अनाज

सुबह की शुरुआत अंकुरित अनाज के साथ करना सबसे बेहतरीन माना जाता है। कई तरह के अनाज है जिसे आप खा सकते हैं। इसे खाने का तरीका यह है कि बस सुबह में इसे नाश्ते के तौर पर लें इसमें जितनी ऊर्जा पाई जाती है। वह शायद आपको किसी दूसरे नाश्ते में नहीं मिलने वाला है। अंकुरित अनाज आपको केवल अच्छी मात्रा में ऊर्जा ही प्रदान नहीं करता बल्कि यह स्वास्थ्य के लिए भी काफी उपयोगी माना जाता है या आपके पाचन तंत्र को बेहतर रखने के साथ-साथ शरीर की कई अन्य आवश्यकताओं की भी पूर्ति करता है।

अंडा

अंडा उन खाद्य पदार्थों में शामिल हैं जिनमें काफी अच्छी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। वजन बढ़ाने के लिए शरीर में हर तरह के पोषक तत्वों का होना काफी जरूरी है। सिर्फ कोई खास पोषक तत्व लेकर आप वजन नहीं बढ़ा सकते हैं। दिन भर आपके शरीर को ऊर्जा मिलती रहे इसके लिए जरूरी होता है कि आप नाश्ते में हाई कैलोरी फूड लें। ऐसे में अंडा एक बेहतरीन विकल्प साबित होता है। एक अंडे में काफी अधिक मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जो कि आपको काफी ज्यादा ऊर्जा प्रदान करता है। अंडे के साथ आप बाकी दूसरी चीजें भी नाश्ते में लेते हैं तो आपको काफी ज्यादा कैलोरी मिल जाता है। अगर आप ऐसा रोजाना करते हैं तो निश्चित ही आपका वजन बढ़ने लगेगा।

घरेलू आटें का उपयोग

बदलते जीवन शैली के कारण लोग अब घरेलू आटे का उपयोग कम से कम करते जा रहे हैं। ज्यादातर लोग सफेद आटे यानी मैदे का उपयोग रोटी बनाने में ज्यादा करते हैं। लेकिन यह आटा आप को फायदा पहुंचाने की बजाय कई तरीके से नुकसान ही पहुंचाता है। इसके उलट अगर आप सफेद आटे की बजाय आम आटे का उपयोग करते हैं तो इस आटे से बनी रोटी काफी अधिक मात्रा में आपको ऊर्जा प्रदान करती है।

● रेड मीट

खाने पीने की जितनी भी वस्तु में मौजूद हैं उन सब में सबसे अधिक उर्जा रेड मीट में पाई जाती है। अगर आप मांसाहारी हैं तथा अपना वजन तेजी से बढ़ाना चाहते हैं तो अपनी डाइट में हर हाल में रेड मीट को शामिल कर लेना चाहिए। अगर आप नियमित रूप से रेड मीट का सेवन करते हैं तो काफी तेजी से आपके शरीर में बदलाव दिखने शुरू हो जाएंगे। दरअसल रेड मीट को मसल बिल्डर माना जाता है। इसकी वजह यह है कि रेड मीट में ल्यूसीन नाम का एक विशेष तत्व पाया जाता है जिससे मसल बिल्डर कहा जाता है। जब आप नियमित रूप से रेड मीट लेते हैं तो पर्याप्त मात्रा में ल्यूसीन मिलने की वजह से मसल ग्रोथ शुरू हो जाता है। जब आप लगभग 170 ग्राम रेड मीट लेते हैं तो उससे आपको 5 से 6 ग्राम तक ल्यूसिन मिलता है साथ ही 456 कैलोरी ऊर्जा मिलती है। इसके अलावा भी रेड मीट में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हड्डियों तथा मांसपेशियों के ग्रोथ के लिए भी काफी जरूरी होता है। रेड मीट ताकत बढ़ाने के लिए भी जाना जाता है।

ड्राई फ्रूट्स

अच्छी सेहत के लिए ड्राई फ्रूट्स का सेवन करना हर हाल में जरूरी है इनमें ऐसे ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो कि आप ऊर्जा देने के साथ-साथ आपके पाचन तंत्र को बेहतर रखता है आपके दिमाग को बेहतर रखता है तनाव को कम करता है साथ ही वज़न बढाने में भी फायदेमंद साबित होता है।

तो ये कुछ खाने पीने की चीजें हैं जिसे आप रोजाना खाकर आराम से वजन बढ़ा सकते हैं। एक बात ध्यान रखें कि सिर्फ इन चीजों को खाने से ही वजन बढ़ाना थोड़ा मुश्किल होगा। इसलिए अगर आप सच में वजन बढ़ाना चाहते हैं तो इन चीजों को खाने के साथ-साथ सुबह में कम से कम आधे से एक घंटा समय व्यायाम जरूर करें। वेटलिफ्टिंग के साथ-साथ अलग-अलग तरह के एक्सरसाइज करने से मसल ग्रोथ काफी तेजी से होता है, शरीर को नई ऊर्जा मिलती है।

अब आपको जवाब मिल गया होगा कि ऐसा क्या खाएं की वजन बढ़ जाए तथा wajan badhane ka tarika क्या है।

नोट – ये बातें सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से बताई गई है। अपने विवेक तथा डॉक्टरी सलाह के आधार पर ही कोई भी फैसला लें।

Share and Enjoy !

Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *